Breaking News

बिहार के 8,386 ग्राम पंचायतों में खोली जाए बैंकों की शाखा, राज्य स्तरीय बैंकर्स की बैठक में बोले सीएम नीतीश, सरकार करेगी सहयोग

पटना में राज्य स्तरीय बैंकर्स की 72वीं बैठक हुई. जिसमें मुख्यमंत्री नीतीश कुमार,डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी शामिल हुए. बैठक में विभिन्न बैंकों के अधिकारियों से सीएम नीतीश कुमार ने जानकारी हासिल की.

बैठक में सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि बिहार में बैंकों के प्रति बहुत अच्छी अवधारणा है, लोगों का इसके प्रति आकर्षण है. लोग अपनी सेविंग का अधिक से अधिक पैसा बैंकों में जमा करते हैं, जबकि बैंक हमारे राज्य के जमा पैसों को यहां के बैंक विकसित राज्यों में लगा देते हैं. उन्होंने कहा कि बिहार के हर ग्राम पंचायत में बैंक की शाखा खोलें, सरकार आपकी पूरी सहायता करेगी.

सीएम ने कहा कि राज्य में रोजगार सृजन की आवश्यकताओं को देखते हुये बिहार में बैंक अपने कैश डिपोजिट रेशियो एवं एनुअल क्रेडिट प्लान को बढ़ायें. बैंक जीविका को दिये जाने वाले 1 से 5 लाख तक के ऋण को बढ़ाकर 3 से 10 लाख रूपये करें. नये उद्योगों विशेषकर सुक्ष्म एवं लघु उद्योग को लगाने एवं उसे बढ़ावा देने में बैंक अपना पूरा सहयोग दें.

नीतीश कुमार ने कहा कि बिहार में क्रेडिट-डिपॉजिट रेशियो को बढ़ाने पर विशेष ध्यान देने की आवष्यकता है. इसके लिये एनुअल क्रेडिट प्लान के लक्ष्य को बढ़ाना पड़ेगा. जब एसीपी बढ़ेगा तो सीडी रेशियो भी बढ़ेगा. वित्तीय वर्ष 2019-20 में बिहार के बैंकों का कुल डिपोजिट 3.71 लाख करोड़ रूपये रहा जबकि बैंकों का 43.03 प्रतिशत ही क्रेडिट-डिपॉजिट रेशियो रहा. उन्होंने कहा कि हमलोगों का लक्ष्य है अधिक से अधिक लोगों को रोजगार उपलब्ध हो, उन्हें बिहार में ही काम का अवसर मिले. इसमें बैंकों की बड़ी महत्वपूर्ण भूमिका है. सुक्ष्म एवं लघु उद्योग इकाईयां, पशु पालन, मुर्गी पालन, हस्तशिल्प, हस्तकरघा, कृषि एवं संबद्ध क्षेत्र के साथ-साथ अन्य क्षेत्रों में भी बिहार में रोजगार सृजन की काफी संभावनाएं है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *